रेलवे के इस कदम से समय पर चलने लगेंगी 90 फीसदी ट्रेनें

रेलवे ने अब ट्रैक्स की देखरेख और उसकी मेंटनेंस के लिए आर्टिफिशल इंटेलिजेंस का सहारा लेने का फैसला लिया है । एक अधिकारी ने बताया कि रेलवे अब आर्टिफिशल इंटेलिजेंस की मदद से ही पटरियों के रिपेयर और मेंटनेंस का कैलेंडर तैयार करेगा। इससे ट्रेनों की आवाजाही के समय में सुधार आ सकेगा। भारत में अकसर अनियमित ट्रैक मेंटनेंस के चलते ट्रेनों की लेटलतीफी बनी रहती अधिकारी ने कहा कि आर्टिफिशल इंश्योरेंस के चलते कम से कम 90 फीसदी ट्रेनों का संचालन समय पर हो सकेगा।

रेलवे आर्टिफिशल इंटेलिजेंस की मदद से पहले ही मेंटनेंस का कैलेंडर तैयार कर सकेगा और इस प्लानिंग के चलते ट्रेनों की समय पर आवाजाही हो सकेगी। रेलवे अफसर ने कहा कि सभी बड़े मेंटनेंस ब्लॉक पर सिर्फ रविवार को ही काम होगा ताकि ट्रेनों की लेटलतीफी को कम से कम किया जा सके।

बता दें कि रेलवे पहले से ही पटरियों में किसी कमी की चांज के लिए ऑटोमेटिक ट्रैक डिटेक्शन मशीनों का इस्तेमाल कर रहा है। अब आर्टिफिशल इंटेलिजेंस के जरिए रेलवे ट्रैक्स और ट्रैक जॉइंट्स की भी लाइफ का अनुमान लगा सकेगा। इस कदम के चलते रेल हादसों को भी कम करने में मदद मिलेगी। रेलवे अधिकारी ने कहा, ‘इसके जरिए हम नियमित और योजनाबद्ध ढंग से रिपेयर और मेंटनेंस का काम कर सकेंगे। अब तक इसे हमें कई बार आखिरी क्षणों में ऐसा करना पड़ता था और इसके चलते समस्या होती थी।’

Print Friendly, PDF & Email

You May Also Like

   

     

     
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: