4G स्पीड के मामले में पिछड़ी जियो, एयरटेल बनीं नंबर वन

नई दिल्ली ।  भारत में पिछले साल मई 2017 से लेकर फरवरी 2018 के बीच 4G स्पीड के मामले में एयरटेल ने बाजी मारी। भारत में 4G लॉन्च होने के 4 साल बाद नेटवर्क की पहुंच और डाटा स्पीड में बढ़ोत्तरी देखने को मिली है। जियो के लॉन्च होने के बाद देश के 96 प्रतिशत क्षेत्र में 4G नेटवर्क कवरेज मिलने लगी है। साथ ही लोगों को सस्ती दरों पर 4G डाटा का लाभ भी मिलने लगा है। देश में 4G सेवा चार बड़ी कंपनियां भारती एयरटेल, रिलायंस जियो, वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर प्रदान करती है।

टवर्क मापने वाले वेबसाइट ओपन सिग्नल के डाटा के मुताबिक मई 2017 से लेकर फरवरी 2018 के बीच भारती एयरटेल ने रिलायंस जियो को स्पीड के मामले में पछाड़ दिया है। अन्य टेलीकॉम कंपनियां इन दोनों से काफी पीछे हैं। एयरटेल ने इस दौरान 6 Mbps, जियो 5.1 Mbps, वोडाफोन 4.5 Mbps और आइडिया 4.4 Mbps की एवरेज स्पीड से यूजर्स को डाटा उपलब्ध कराया है।

ओपन सिग्नल के इस रिपोर्ट के मुताबिक मई 2017 तक एयरटेल, आइडिया और वोडाफोन की एवरेज स्पीड जियो के मुकाबले स्थिर थी, लेकिन मई के बाद से इन तीनों ही कंपनियों के स्पीड में बढ़ोत्तरी देखने को मिली है। साथ ही इन तीनों ही कंपनियों ने अपने LTE नेटवर्क को बढ़ाना शुरू किया।

मई 2017 से पहले रिलायंस जियो 4G स्पीड के मामले में अव्वल बनी हुई थी। दिसंबर 2017 में एयरटेल ने जियो को पछाड़ते हुए 4G स्पीड में टॉप स्थान पर काबिज हो गई। जबकि आइडिया भी अपने स्पीड को बढ़ाते हुए वोडाफोन के बराबर पहुंच गई। अगर हम रिलायंस जियो के ट्रेंड को देखें तो, जियो ने सितंबर 2016 को कमर्शियल लॉन्च होने के बाद से देश के 96 प्रतिशत क्षेत्र में 4G नेटवर्क की पहुंच बना ली है। फिलहाल जियो 18 करोड़ यूजर्स के साथ देश की सबसे बड़ी 4G सेवा प्रदान करने वाली कंपनी बन गई है।

वहीं उपभोक्ता के मामले में भारती एयरटेल 32.49 करोड़ एक्टिव यूजर्स के साथ पहले नंबर पर काबिज है। वहीं दूसरे नंबर पर वोडाफोन इंडिया के पास 20.96 करोड़ एक्टिव उपभोक्ता हैं। आइडिया सेल्युलर 21.12 करोड़ एक्टिव यूजर्स के साथ तीसरे नंबर पर और रिलायंस जियो 18.65 एक्टिव यूजर्स के साथ चौथे नंबर पर काबिज है।

Print Friendly, PDF & Email

You May Also Like

   

     

     
error: Content is protected !!