कभी भी हो सकता फ्रॉड,RBI ने बैंक अकाउंट समेत इन 8 चीजों को लेकर जारी की चेतावनी

बैंकों से लेन-देन करने वाले सभी खाताधारकों के लिए जरूरी खबर है। किसी बैंक शाखा में जाकर जमा या निकासी पर्ची में कुछ गलत लिख जाने पर इन पर्चियों को आप ऐसे ही न छोड़ें बल्कि पूरी तरह से नष्ट कर दें। ऐसा न करने पर आपके साथ फ्रॉड होने की आशंका है।

दरअसल फर्जी चेक के जरिये बढ़ते बैंक फ्रॉड को रोकने के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने सभी बैंकों को एडवाइजरी जारी की है। जून के अंतिम सप्ताह में जारी निर्देश में कहा गया है कि बैंकों में जमा और निकासी पर्ची को खाताधारक संभाल कर भरें।

कई बार ऐसा होता है कि जल्दबाजी में खाताधारक किसी कॉलम में गलती से कुछ गलत जानकारी जैसे खाता संख्या का एक नंबर लिखने से रह गया है भर देता है। बैंक द्वारा बताए जाने पर दूसरी पर्ची भरता है। ऐसे में उस पहली पर्ची में खाताधारक की सारी जानकारी आ जाती है।

इसी पर्ची से शातिर खाताधारक की जानकारी हासिल कर लेता है। इन पर्चियों पर खाताधारक के हस्ताक्षर भी होते हैं। ऐसे में उस पर्ची को पूरी तरह से नष्ट कर दें। निर्देशों में कहा गया है ऐसा ही खाताधारक चेक के मामले में भी यही करें। चेक में किसी त्रुटि के होने पर उस चेक को पूरी तरह से फाड़ दें या नष्ट कर दें।
जिन शाखाओं में फ्रॉड हुआ है वे शाखाएं इसकी जानकारी दूसरे दिन अन्य शाखाओं को भी बताएं, फ्रॉड कैसे हुए, उनका मॉड्यूल क्या था, इसकी भी सूचना साझा करें। संबंधित बैंक स्टाफ को इस संबंध में जानकारी दें और अलर्ट पर रहें। पूरे मामले की जानकारी करें और सीसीटीवी फुटेज संभाल कर रखें। यदि थर्ड पार्टी को चेक का भुगतान कर रहे हैं तो किसी भी प्रकार के संदेह होने पर संबंधित से नो योर कस्टमर (केवाईसी) या आधार मांग सकते हैं।
(1) भारतीय रिज़र्व बैंक किसी भी व्‍यक्ति का खाता नहीं रखता है.
(2) भारतीय रिज़र्व बैंक के अधिकारियों के नाम पर धोखेबाज़ों से सावधान रहें.
(3) भारतीय रिज़र्व बैंक का कोई भी व्‍यक्ति लॉटरी जीतने/विदेश से धन-राशि प्राप्‍त करने के बारे में कोई फोन नहीं करता है.
(4) भारतीय रिज़र्व बैंक लॉटरी फंड, इत्यादि जीतने के संबंध में कोई ई-मेल नहीं भेजता है.
(5) भारतीय रिज़र्व बैंक लॉटरी जीतने अथवा विदेश से निधि प्राप्‍त करने के जाली प्रस्‍तावों के लिए कोई एसएमएस अथवा पत्र अथवा इ-मेल नहीं भेजता है.
(6) भारतीय रिज़र्व बैंक की आधिकारिक और असली वेबसाइट केवल है और जनता कृपया सावधान रहे और जाली लोगो सहित ‘रिज़र्व बैंक’, ‘आरबीआई’ आदि से शुरू होने वाले इसी प्रकार के पते वाली जाली वेबसाइटों से गुमराह न हों.
(7) ऐसी धोखाधड़ी के बारे में स्‍थानीय पुलिस अथवा साईबर क्राइम प्राधिकारी को अवश्‍य जानकारी दें.
(8) जनता को सूचित किया जाता है कि वे ऐसे लोगों / संस्थाओं के पत्राचार का जवाब न दें और आरबीआई के नाम से प्राप्त धोखाधड़ीपूर्ण ईमेल का शिकार न बनें.
Print Friendly, PDF & Email

You May Also Like

   

     

     
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: