NCLT ने स्वीकार की एरिक्सन की याचिक, 20 फीसद तक टूटे RCom के शेयर्स

नई दिल्ली : आरकॉम और उसकी सहयोगी कंपनियों के खिलाफ एरिक्सन की ओर से दायर याचिका को एनसीएलटी ने स्वीकार कर लिया है। इस याचिका को स्वीकार किए जाने के कुछ ही मिनटों बाद आर कॉम के शेयर्स 20 फीसद तक टूट गए। एनसीएलटी की ओर से याचिका को स्वीकार कर लिए जाने के बाद अब दिवालिया प्रक्रिया के तहत अनिल अंबानी की तीन दूरसंचार कंपनियां नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) के दायरे में आ सकती हैं।

एरिक्सन का आर-कॉम से क्या है कनेक्शन?

जानकारी के लिए आपको बता दें कि स्वीडन की कंपनी एरिक्सन ने आरकॉम के देश भर में स्थित नेटवर्क को ऑपरेट करने और उनका प्रबंधन के लिए 7 साल का करार किया था। आर कॉम के खिलाफ बकाए को लेकर एरिक्सन ने बीते साल 1,150 करोड़ रुपए के बकाए को लेकर सितंबर, 2017 में इनसॉल्वेंसी पिटीशन फाइल की थी।

आज कितने टूट गए अनिल की कंपनी के शेयर्स?

इस खबर का असर एडीएजी ग्रुप के अन्य शेयर्स पर भी देखने को मिला। रिलायंस नेवल एंड इंजीनियरिंग लिमिटेड के शेयर्स 6.96 फीसद की कमजोरी के साथ 12.70 के स्तर पर, रिलायंस निप्पॉन लाइफ एसेट मैनेजमेंट के शेयर्स 2.46 फीसद की कमजोरी के साथ 242 के स्तर पर, रिलायंस पावर के शेयर्स 0.45 फीसद की कमजोरी के साथ 33.35 के स्तर पर और रिलायंस कैपिटल 0.25 फीसद की कमजोरी के साथ 374.85 के स्तर पर कारोबार कर बंद हुए हैं।

बुधवार के कारोबार में रिलायंस कम्युनिकेशन्स लिमिटेड के शेयर्स 15.26 फीसद की कमजोरी के साथ 10.55 के स्तर पर कारोबार कर बंद हुए है। इसका दिन का उच्चतम स्तर 11.95 और निम्नतम 9.95 का स्तर रहा है। वहीं, 52 हफ्तों का उच्चतम 41.77 का स्तर और निम्नतम 9.60 का स्तर रहा है।

Print Friendly, PDF & Email

You May Also Like

   

     

     
error: Content is protected !!