बैंक लोन को लेकर कांग्रेस ने कहा एनडीए का नाम एनपीए होना चाहिए

कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी सरकार के कार्यकाल में बैंकों में जनता का धन असुरक्षित होने का आरोप लगाते हुए आज दावा किया कि इस सरकार में एनपीए 230 फीसदी बढ़ गई हैं इसलिए अब ‘एनडीए का नाम एनपीए कर दिया जाना चाहिए.’पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, “बैंक मुसीबत में हैं. जनता का पैसा असुरक्षित है. डिफाल्टरों ने लूट की और भाग निकले.उन्होंने दावा किया, ‘मोदी सरकार में बैंकोंका डूबा कर्ज बैड लोन 317 फीसदी बढ़ गया. 2014-15 में यह 26,112 करोड़ रुपये था और यह 2017-18 में 1,09,076 करोड़ रुपये हो गया.’सुरजेवाला ने कहा, “सभी बैंकों में एनपीए 230 फीसदी बढ़ गया. यह मार्च, 2014 में 2,51,054 करोड़ रुपये था जो दिसंबर, 2017 में बढ़कर 8,31,141 करोड़ रुपये हो गयाउन्होंने कहा,”एनडीए का नाम अब एनपीए कर दिया जाना चाहिएi

कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी सरकार के कार्यकाल में बैंकों में जनता का धन असुरक्षित होने का आरोप लगाते हुए सोमवार को दावा किया कि इस सरकार में गैरनिष्पादित आस्तियां 230 फीसदी बढ़ गई हैं इसलिए अब ‘एनडीए का नाम एनपीए कर दिया जाना चाहिएi

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा’बैंक संकट में हैं. जनता का पैसा है. डिफाल्टरों ने लूट की और भाग निकले

उन्होंने दावा किया’मोदी सरकार में बैड लोन317 फीसदी बढ़ गया. 2014-15 में यह 26,112 करोड़ रुपये था और यह 2017-18 में 1,09,076 करोड़ रुपये हो गया.’

सुरजेवाला ने कहा’सभी बैंकों में एनपीए 230 फीसदी बढ़ गया. यह मार्च, 2014 में 2,51,054 करोड़ रुपये था जो दिसंबर, 2017 में बढ़कर 8,31,141 करोड़ रुपये हो गया.’ उन्होंने कहा, ‘एनडीए का नाम अब एनपीए कर दिया जाना चाहिए

Print Friendly, PDF & Email

You May Also Like

   

     

     
error: Content is protected !!