लखनऊ नगर निगम वॉर रूम से सफाई की जंग लड़ेगा,

लखनऊ : सफाई, स्ट्रीट लाइट और कूड़ा उठान से जुड़ी शिकायतें दूर करने के लिए लखनऊ नगर निगम ने नई रणनीति बनाई है। इसके लिए नगर निगम कंट्रोल रूम नए सिरे से तैयार किया जा रहा है। इसे वॉर रूम नाम दिया गया है। यहां सुबह से कर्मचारियों की ड्यूटी लगेगी जो पार्षदों, अफसरों और सुपरवाइजरों को सुबह पांच बजे फोन कर जगाएंगे। फोन रिसीव करते ही ऑटोमेटिक मेसेज सुनाई देगा और इसके कुछ देर बाद सभी को वॉर्डों में निकलना होगा।
इन्हें मोबाइल का जीपीएस भी ऑन रखना होगा ताकि यह पता चलता रहे कि कौन फील्ड में है और कौन नहीं। तय योजना के मुताबिक पार्षद, अफसर और कर्मचारी सुबह छह से आठ बजे तक इलाकों में निरीक्षण करेंगे। यह टीम मौके पर जाकर शिकायत की जांच के साथ तुरंत समाधान करवाएगी। जनता की शिकायतों की तत्काल सुनवाई और निस्तारण के लिए कंट्रोल रूम के तौर-तरीके बदले जा रहे हैं। इसका जिम्मा एक निजी कंपनी रेडियंस को दिया गया है।
वॉर रूम में इस कंपनी के आठ कर्मचारी रहेंगे, जो लोगों के फोन कॉल रिसीव करेंगे। यहां नगर निगम के भी तीन बाबू बैठाए जाएंगे, ताकि यह तय हो सके कि कौन सी शिकायत किस जोन या वॉर्ड में भेजी जानी है। इसी जगह ईको ग्रीन और एलईडी लाइटें लगाने वाली कंपनी ईईएसएल के प्रतिनिधि भी मौजूद रहेंगे। तय योजना के मुताबिक, कूड़ा निस्तारण, एलईडी लाइटें, सड़क निर्माण, नाला सफाई और शौचालय निर्माण से जुड़ी शिकायतें भी सुनी जाएंगी।
हर जोन और वॉर्ड में अफसर और सुपरवाइजर हर रोज सुबह छह से आठ बजे तक मौजूद रहेंगे। इससे शिकायतों का भौतिक सत्यापन भी हो जाएगा। शिकायतों की सुनवाई और तत्काल निस्तारण के लिए बन रहे वॉर रूम का जल्द ही उद्‌घाटन किया जाएगा। इस समय चल रहे कंट्रोल रूम में शिकायत मिलने के बाद बिना समाधान हुए निस्तारण का मेसेज चला जाता है। वॉर रूम को इस तरह से डिजाइन किया जा रहा है ताकि ऐसी गलती न हो सके।

You May Also Like

   

     

     
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: