उन्‍नाव रेप केस में बीजेपी की सफाई- बयान में पीड़िता ने नहीं लिया था विधायक का नाम

नई दिल्ली: कठुआ और उन्‍नाव रेप केस को लेकर विपक्ष के लगतार हमलों का जवाब देते हुए बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा कि उन्‍नाव की घटना 10 महीने पहले की है. पुलिस ने मजिस्‍ट्रेट के सामने बयान लिया. इसमें पीड़िता ने विधायक का नाम नहीं लिया.

मीनाक्षी लेखी ने कहा कि पीड़ित महिला ने पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्‍यनाथ को चिट्ठी लिखी और इसमें विधायक पर आरोप लगाए, फिर कार्रवाई हुई.

टिप्पणियां

उन्‍होंने कहा कि कठुआ रेप केस में भी निष्‍पक्ष जांच हुई है. एसआईटी ने छह से सात लोगों को गिरफ्तार किया है. उन्‍होंने कहा कि मैं ये बताना चाहती हूं कि जम्‍मू-कश्‍मीर बार एसोसिएशन के अध्‍यक्ष बी एस सलाथिया चुनाव में गुलाम नबी आजाद के पोलिंग एजेंट थे, इससे पता चलता है की वहां किस प्रकार की घृणात्मक राजनीति चल रही है. वहां की बार एसोसिएशन के प्रेजिडेंट सलाथिया जी एक तरफ तो न्याय की बात करते हैं दूसरी तरफ हाई कोर्ट को बंद करने की बात कर रहे है. उन्‍होंने कहा कि महिलाओं और बच्चों के उत्पीड़न पर किसी भी प्रकार की राजनीति नहीं होनी चाहिए

Print Friendly, PDF & Email

You May Also Like

   

     

     
error: Content is protected !!