सीबीएसई पेपर लीक : आखिर पर्चा लीक हुआ तो कैसे? HRD मंत्रालय की हाईलेवल कमेटी करेगी जांच

नई दिल्‍ली : मानव संसाधन मंत्रालय (एचआरडी) ने अर्थशास्त्र (12वीं) और गणित (10वीं) का पर्चा लीक होने के बाद सीबीएसई परीक्षा प्रक्रिया की जांच के लिए एक ‘उच्च स्तरीय समिति’ का गठन किया है. एचआरडी के पूर्व सचिव वी एस ओबरॉय की अध्यक्षता वाला पैनल प्रक्रिया को ‘तकनीक के जरिए सुरक्षित एवं आसान’ बनाने के उपायों पर भी सुझाव देगा और 31 मई तक अपनी रिपोर्ट मंत्रालय को पेश करेगा.

एचआरडी के पूर्व सचिव की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय समिति का गठन
एचआरडी के स्कूली शिक्षा सचिव अनिल स्वरूप ने कहा, ‘सरकार ने सीबीएसई परीक्षाओं की प्रक्रिया की जांच करने और प्रक्रिया को तकनीक के जरिए सुरक्षित एवं आसान करने के उपाय सुझाने के लिए एचआरडी के पूर्व सचिव वी एस ओबेरॉय की अध्यक्षता में कल एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया, जिसमें कई विशेषज्ञ शामिल हैं’.

सीबीएसई की परीक्षाओं की प्रक्रिया पर सवाल उठ रहे थे
पिछले कई दिनों से लीक की खबरों के बीच केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की परीक्षाओं की प्रक्रिया पर सवाल उठ रहे थे, जिसके बाद यह कदम उठाया गया. एचआरडी मंत्रालय ने पिछले सप्ताह 12वीं की अर्थशास्त्र की परीक्षा 25 अप्रैल को दोबारा कराने की घोषणा की थी.

दिल्ली पुलिस ने दो मामले दर्ज किए
मंत्रालय ने हालांकि कहा था कि यदि जरूरत पड़ी तो 10वीं की गणित की परीक्षा दिल्ली-एनसीआर और हरियाणा में जुलाई में कराई जाएगी. हालांकि मंगलवार को उन्होंने 10वीं की पुन: परीक्षा नहीं कराने की बात कही. दिल्ली पुलिस ने लीक के संबंध में दो मामले दर्ज किए हैं.

सीबीएसई के क्षेत्रीय निदेशक की शिकायत पर पहला मामला 27 मार्च को 12वीं का अर्थशास्त्र का पर्चा लीक होने के संबंध में दर्ज किया गया, जबकि दूसरा मामला 28 मार्च को 10वीं का गणित का पर्चा लीक होने के संबंध में दर्ज किया गया. 10वीं की गणित और 12वीं की अर्थशास्त्र की परीक्षा क्रमश: 28 मार्च और 26 मार्च को हुई थी.

Print Friendly, PDF & Email

You May Also Like

   

     

     
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: