राफेल डील को लेकर रक्षामंत्री पर राहुल का पलटवार, ‘आपका नहीं जनता का पैसा लगा’

राफेल फाइटर प्लेन के सौदे को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधा है. राफेल डील को लेकर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन के बयान पर पलटवार करते हुए राहुल गांधी ने कहा, “वो कहते हैं कि उन्होंने अपना रेट लगाया और सामान खरीदकर लाएं. मैं पूछता हूं कि सामान खरीदने में पैसा किसका लगा था? पैसा तो जनता का लगा था, तो जनता को फर्क पड़ता है.”

राहुल गांधी ने कहा, “संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) ने एक फाइटर प्लेन की कीमत 526 करोड़ रुपये लगाई थी, लेकिन मोदी सरकार ने एक प्लेन के लिए 1,670 करोड़ रुपये लगाए. इससे सरकारी खजाने को 40, 000 करोड़ से ज्यादा रुपये का नुकसान हुआ.”

बता दें कि 17 मार्च को नेटवर्क18 के ‘राइजिंग इंडिया’ समिट में शिरकत करने पहुंचीं रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन ने राफेल डील को फायदे का सौदा करार दिया था. सीतारमन ने कहा था, “विपक्ष बार-बार इस बात की तुलना कर रहा है कि वो कम रेट में रक्षा सामग्री खरीद रहे थे, हमने ज्यादा में खरीदा. लेकिन, सच तो ये है कि उन्होंने सौदा नहीं किया और हमने राफेल विमान खरीद लिए. आप दुकान जाते हैं, आप चाहे कितना भी मोलभाव कर लें, आपको हर दुकान वाला अलग रेट बताएगा. बात तो तब हो जब आप वो सामान खरीदकर लाएं.”
 इससे पहले राहुल गांधी ने राफेल फाइटर प्लेन के लिए बीजेपी सरकार, यूपीए सरकार और कतर की तरफ से भुगतान की जाने वाली कीमतों का ट्विटर पर जिक्र भी किया था.

राहुल ने आरोप लगाया था कि फाइटर प्लेन का निर्माण करने वाली कंपनी ‘दासाल्ट एविएशन’ ने एयरक्राफ्ट की कीमतें जारी कर ‘आरएम’ (रक्षामंत्री या डिफेंस मिनिस्टर) का ‘झूठ’ बताया.

बता दें कि कांग्रेस महाधिवेशन में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने आरबीआई पर तंज कसते हुए कहा था कि उन्हें नोट गिनने के लिए उन्हें तिरुपति के हुंडी कलेक्टर्स के पास जाना चाहिए वे काफी तेजी से नोट गिनते हैं. इस पर जवाब देते हुए सीतारमन ने कहा कि कालेधन को लेकर कांग्रेस की समझ काफी अच्छी है. इसलिए कालाधन गिनने के लिए आरबीआई को कांग्रेस की मदद लेनी चाहिए.

Print Friendly, PDF & Email

You May Also Like

   

     

     
error: Content is protected !!