गुजरात में कांग्रेस फिर लगा झटका, नेता के बेटे ने थामा भाजपा का दामन

नई दिल्ली : 2019 में होने वाले आम चुनावों से पहले गुजरात से कांग्रेस के लिए लगातार बुरी खबरें आ रही हैं. पहले कोली समाज के बड़े नेता कुंवरजी वावड़िया ने भाजपा का दामन थामा. शनिवार (14 जुलाई 2018) को कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे शंकर सिंह बाघेला के पुत्र महेंद्र सिंह वाघेला ने भाजपा ज्वाइन कर ली है. गुजरात के वित्त मंत्री नितिन पटेल और भाजपा नेता जीतू वाघाणी ने उन्हें पार्टी में शामिल किया. शंकर सिंह वाघेला राजपूत समाज के बड़े नेता माने जाते हैं, ऐसे में उनके बेटे का भाजपा के साथ जुड़ना कांग्रेस के लिए एक बड़े झटके के समान है. हालांकि पिछले गुजरात में हुए राज्यसभा चुनावों के समय महेंद्र सिंह ने कांग्रेस छोड़ दी थी, लेकिन वह भाजपा में शामिल नहीं हुए थे.

महेंद्र सिंह गुजरात के बनासकांठा की बायड विधानसभा सीट से कांग्रेस के विधायक रह चुके हैं. अब देखना ये है कि क्या भाजपा 2019 के चुनाव में महेंद्र सिंह को लोकसभा का टिकट देती है या नहीं. वैसे बनासकांठा क्षेत्र में उनका और उनके पिता का अच्छा खासा प्रभाव है. ऐसे में भाजपा उन्हें टिकट दे सकती है, लेकिन कांग्रेस के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है.

गौरतलब है कि शंकर सिंह वाघेला ने गुजरात में अपनी राजनीति जनसंघ से शुरू की थी. बाद में भाजपा छोड़कर उन्होंने अपनी पार्टी बनाई और कांग्रेस के सहयोग से सरकार बनाई. इसके बाद वह कांग्रेस में शामिल हो गए. यूपीए 1 में वह केंद्र में मंत्री भी रहे. पिछली विधानसभा में कांग्रेस में रहते हुए वह नेता विपक्ष के पद पर रहे थे, लेकिन चुनाव से ठीक पहले उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी थी.

इससे पहले राज्यसभा के चुनाव में भाजपा ने महेंद्र सिंह के सहयोगी वलवंत सिंह राजपूत को टिकट दिया था. हालांकि अहमद पटेल के सामने वह चुनाव हार गए थे. अब भाजपा ने खुद महेंद्र सिंह को पार्टी में शामिल कर गुजरात की राजनीति को फिर से गर्मा दिया है. आने वाले चुनावों में वह राजपूत वोटों के लिहाज से काफी अहम साबित होंगे.

Print Friendly, PDF & Email

You May Also Like

   

     

     
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: