मोदी के कारण सार्वजनिक क्षेत्रों के बैंकों में व्यापक घोटाले : राहुल

मैसुरु : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर रविवार को करारा हमला करते हुए कहा कि उन्होंने अपने व्यावसायिक ‘मित्रों’ की मदद करने का प्रयास किया। इस कारण सार्वजनिक क्षेत्रों के बैंकों में भारी घोटाले तथा धोखाधड़ी हुई। गांधी ने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत केंद्र सरकार ने बैंकिंग उद्योग को ना केवल अपंग बना दिया है बल्कि इसे ‘ठीक करने से भी परे’ कर दिया है। कांग्रेस बैंक शाखाओं को देश के ग्रामीण लोगों के बीच ले गई जबकि भाजपा सरकार ने बैंकिंग क्षेत्र को ‘गैर निष्पादित परिसंपत्तियां’ बना दिया।

गांधी ने मोदी के मन की बात कार्यक्रम की चर्चा करते हुए कहा कि मैं प्रधानमंत्री से आग्रह करूंगा कि वह छोटे बच्चों को परीक्षा देने के तरीके बताने पर डेढ़ घंटे का समय व्यतीत करने की बजाए उन्हें देश के लोगों को बताना चाहिए कि वह नीरव मोदी मामले में क्या करने जा रहे हैं तथा बैंकिंग व्यवस्था की सुरक्षा के लिए कौन सा कदम उठा रहे हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा समाज में शांति भंग कर रही है तथा मोदी किसानों की समस्याओं के निराकरण में पूरी तरह विफल रहे हैं। मोदी और उनकी पार्टी बेरोजगारों को रोजगार देने में भी विफल रही है। इस बीच गांधी की मौजूदगी में जनता दल (सेक्युलर) के सात विधायक जिनमें एच सी बालाकृष्णा, इकबाल अंसारी, चेलुबरायास्वामी, बी जेड जमीर अहमद खान, अकंद श्रीनिवास मूर्ति आर. तथा भीमा नायक और उसी पार्टी के दिग्गज नेता एम सी ननैया कांग्रेस में शामिल हो गए।

Print Friendly, PDF & Email

You May Also Like

   

     

     
error: Content is protected !!