मंत्री रामपाल सिंह का बयान, सुसाइड करने वाली लड़की मेरी बहू नहीं..!

मध्य प्रदेश के पीडब्ल्यूडी मंत्री रामपाल सिंह ने बहू प्रीति रघुवंशी के सुसाइड मामले में पहली बार बयान दिया है. मामले के दो दिन बाद मीडिया के सामने सफाई देने आये मंत्री ने दुख जताया और मामले के जांच के बाद पूरा खुलासा होने की बात की. हैरत की बात यह है कि मंत्री ने प्रीती रघुवंशी को अपनी बहू मानने से ही इनकार कर दिया.

दरअसल, जब उनसे पूछा गया की क्या प्रीति रघुवंशी उनके बेटे गिरजेश प्रताप सिंह की पत्नी है, तब वो मामले पर गोलमोल जवाब देकर बचते नजर आये. मंत्री रामपाल सिंह ने उल्टे विपक्ष को सलाह दी है कि उन्हें इस मामले में किसी के प्रमाण पत्र की जरुरत नहीं है.

इस मामले में इससे पहले बड़ा खुलासा हुआ था, जिसमें मंत्री रामपाल सिंह के बेटे गिरजेश का एसएमएस सामने आया था. खुदकुशी की घटना से तीन दिन पहले ही गिरजेश ने प्रीति के चाचा को एसएमएस किया जिसमें उन्होंने लिखा ‘अपन कुछ करेंगे, टेंशन मत लो’, बस प्रीति से अच्छे से पहले बात करो.’

इससे पहले मृतका के परिजनों ने आरोप लगाया कि सगाई होने के बाद गिरजेश और रामपाल सिंह की तरफ से प्रीति के परिजनों पर मामले में समझौता करने के लिए दबाव बनाया जा रहा था. पैसों का लालच दिया गया. प्रीति के पिता और भाई को अस्पताल से निकालने की धमकी दी गई. आरोप है कि सभी प्रयास मंत्री रामपाल सिंह के द्वारा किए गए.

Print Friendly, PDF & Email

You May Also Like

   

     

     
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: