एक्सप्रेसवे हादसा: जब जन्मदिन की खुशियां मातम में बदलीं, गम में डूबा एम्स

नई दिल्ली । उत्‍तर प्रदेश के मथुरा के करीब यमुना एक्सप्रेस-वे पर एक बड़ा सड़क हादसा हो गया। यहां एक इनोवा कार कंटेनर में घुस गई। ऐसे में इनोवा सवार एम्‍स के तीन डॉक्‍टरों की मौत हो गई है। वहीं चार डॉक्‍टर गंभीर रूप से घायल हैं। घायलों का उपचार जारी है। बता दें क‍ि मृतकों में एक डॉक्‍टर का आज जन्‍मद‍िन था तो सभी साथी बर्थडे सेलि‍ब्रेट करने आगरा जा रहे थे।

हादसे में मृत डॉ. हर्षद
हादसे में मृत डॉ. हर्षद

यमुना एक्प्रेस-वे पर हुए भीषण सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल हुए चारों जूनियर रेजिडेंट डॉक्टरों को इलाज के लिए एम्स ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है। उनमें से किसी के कुल्हे की हड्डी, किसी के हाथ की हड्डी तो किसी की पसलियां टूट गई हैं।

एम्स प्रशासन ने ट्रॉमा सेंटर के प्रमुख व ऑर्थोपेडिक्स विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. राजेश मल्होत्रा के नेतृत्व में डॉक्टरों की टीम बनाई है। इस हादसे की शिकार डॉ. कैथरीन (25) की हालत सबसे ज्यादा गंभीर थी। उनका कुल्हा अपनी जगह से खिसक गया था और चेहरे पर नाक से ललाट तक का हिस्सा फट गया था। उनकी सर्जरी की गई है। अन्य तीन जूनियर रेजिडेंट डॉक्टरों का भी इलाज चल रहा है।

डॉक्टरों की हालत स्थिर और खतरे से बाहर

एम्स का कहना है कि चारों रेजिडेंट डॉक्टरों की हालत स्थिर और खतरे से बाहर है। हादसे के शिकार सातों रेजिडेंट डॉक्टर इमरजेंसी मेडिसिन विभाग के थे। इनमें से डॉ. हर्षद वानखेड़े (35), डॉ. यशप्रीत (26), डॉ. हिमबाला (25) का निधन हो गया है। जबकि डॉ. कैथरीन, डॉ. जितेंद्र (28), डॉ. अभिनवा (25) व डॉ. महेश (29) घायल हैं। इन चारों घायल डॉक्टरों को सुबह 9:30 बजे ट्रॉमा सेंटर में लाया गया।

चल रहा हैै इलाज 

एम्स के अनुसार मूलरूप से अंकोला महाराष्ट्र के रहने वाले डॉ. हर्षद वरिष्ठ रेजिडेंट डॉक्टर थे। जो इमरजेंसी मेडिसिन विभाग में बतौर सर्जन कार्यरत थे, जबकि अन्य छह डॉक्टर जूनियर रेजिडेंट हैं। एम्स का कहना है कि डॉ. जितेंद्र के बाएं हाथ की हड्डी में फ्रैक्चर है। डॉ. अभिनवा के कुल्हे की बायीं हड्डी में फ्रैक्चर है। ऑर्थोपेडिक्स सर्जन इनका इलाज कर रहे हैं, जबकि डॉ. महेश की छाती की पसलियों की तीन हड्डियां ( पसली 4, 5 व 6) टूट गई हैं। इनका इलाज ट्रॉमा सर्जरी के डॉक्टर कर रहे हैं। डॉ. कैथरीन की सर्जरी कर कुल्हे को अपनी जगह पर कर दिया गया है। डॉक्टरों का कहना है कि चेहरे के फटे हुए हिस्से पर स्टिच लगा दिया गया है।

Print Friendly, PDF & Email

You May Also Like

   

     

     
error: Content is protected !!