कठुआ गैंगरेप के पीड़ित परिवार दुष्कर्म व हत्या के बाद ने छोड़ा गांव

जम्मू/कठुआ। कठुआ मामले को लेकर जारी तनावपूर्ण माहौल के बीच गुरुवार देर शाम को पीड़ित परिवार के रसाना गांव छोड़कर चले जाने की चर्चा है। हालांकि, स्थानीय लोगों के अनुसार, पीड़ित परिवार हर साल की तरह पहाड़ी क्षेत्र में शिफ्ट हुआ है।

लोगों के अनुसार, गुज्जर बक्करवाल समुदाय के लोग मार्च-अप्रैल माह में गर्मियों के चलते हर वर्ष मवेशियों को लेकर पहाड़ों की ओर चले जाते हैं, क्योंकि मैदानी इलाकों में चारे की कमी आ जाती है। और सर्दियों में पहाड़ों पर बर्फ गिरने से मैदानों में आ जाते हैं। ऐसा सिर्फ पीड़ित परिवार ही नहीं बल्कि अन्य गांव में बसे परिवार भी करते हैं। स्थानीय निवासी भागमल खजूरिया ने कहा कि पीड़ित परिवार का हर साल की तरह इस बार भी पहाड़ों की ओर चले जाने पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।

दो सिख सीनियर पब्लिक प्रासिक्यूटर नियुक्त

कठुआ हत्याकांड की पैरवी के लिए राज्य सरकार ने सिख समुदाय के दो स्पेशल पब्लिक प्रासिक्यूटर नियुक्त किए हैं। सरकार ने इस नियुक्ति के साथ संकेत दिए हैं कि वह मामले को लेकर गंभीर है। सरकार की ओर से क्राइम ब्रांच जम्मू के चीफ प्रासिक्यूटर भूपेंद्र सिंह व सांबा के हरिंद्र सिंह को मामले की पैरवी का जिम्मा सौंपा गया है। डीजीपी ने भी एसएसपी स्तर के दो अधिकारियों को मामले की जांच में लगाया है। वहीं, प्रासिक्यू¨टग आफिसर्स की नियुक्ति पर डीजीपी का कहना है कि इस मामले को धर्म से न जोड़ा जाए। सरकार की ओर से प्रासिक्यूटर नियुक्त करने थे, जिन्हें कर दिया गया है। पुलिस विभाग में धर्म नहीं देखा जाता।

मुजफ्फरनगर में रह रहा था बच्ची के दुष्कर्म-हत्या का आरोपित

जम्मू के रसाना में बच्ची का अपहरण कर दुष्कर्म और हत्या का आरोपित उप्र के मुजफ्फरनगर स्थित मीरापुर कस्बे में किराए का कमरा लेकर रह रहा था। जम्मू क्राइम ब्रांच ने छापेमारी कर उसे गिरफ्तार किया तो मामले का पर्दाफाश हुआ। दबोचा गया आरोपित कस्बे में एक कॉलेज में बीएससी प्रथम वर्ष की पढ़ाई कर रहा था। बीती 10 जनवरी को जम्मू के कठुआ जिले के हीरानगर थानांतर्गत रसाना गांव निवासी आठ वर्षीय बच्ची का अपहरण हो गया था। घटना के दो दिन बाद पुलिस को किशोरी का शव गांव के जंगल में ही पड़ा मिला था। जम्मू क्राइम ब्रांच की जांच के बाद शक के आधार पर गांव निवासी एक किशोर को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने पूरी घटना से पर्दा उठा दिया था। किशोर ने बताया कि उसने अपने चचेरे भाई विशाल के साथ मिलकर बच्ची के साथ पहले दुष्कर्म किया और बाद में पत्थर से उसकी हत्या कर दी।

Print Friendly, PDF & Email

You May Also Like

   

     

     
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: