मौत के मुंह से बाहर निकल कर आए शख्सने सुनाई खौफनाक दास्तां

वाराणसी। वाराणसी में एक निर्माणाधीन फ्लाईओवर का एक हिस्‍सा गिर गया। इस हादसे में 18 लोगों के मौत हुई है जबकि कई लोग घायल हुए हैं। हादसा शाम करीब 5:30 बजे कैंट रेलवे स्‍टेशन के पास हुआ। घटना का मंजर इतना खौफनाक था कि देखने वालों की रूह कांप गई। हादसे के दौरान कुछ ऐसे भी लोग थे जो पुल के गिरे हिस्से के नीचे दबने के बावजूद भी जिंदा बच गए। ऐसे ही एक शख्स थे मिर्जापुर के रहने वाले प्रद्युमन जो इसी भीषण हादसे से बचकर बाहर आए। उन्हें अबी भी यकीन नहीं हो रहा है कि वे जिंदा बच गए हैं।जानते हैं प्रद्युमन की कहानी उन्हीं की जुबानी।

हादसे पर यकीन करना मुश्किल यूपी के वाराणसी में हुए फ्लाईओवर हादसे में मिर्जापुर के शख्स प्रद्युमन लाल ऑटो से ही सफर कर रहे थे कि जब ये हादसा हुआ। वे बताते हैं कि ‘मुझे यकीन ही नहीं हो रहा कि मैं जिंदा हूं। मैं ऑटो रिक्शा में बैठकर जा रहा था तभी पुल का बड़ा हिस्सा ऊपर आकर गिरा। जो भी उसके नीचे आया बुरी तरह से दब गया।’ वहीं एक शख्स हैं जो ऑटो में जिंदा बचे रहे। बाकी उनके साथ के सवार सभी लोगों की मौत हो गई। उन्हें इस बात का काफी अफसोस भी हैं वहीं इस बात को लेकर वह अभी भी सकते में हैं कि उनके साथ इतना बड़ा हादसा हुआ।

मिर्जापुर जिले के पिपराही इलाके में रहने वाले प्रद्युमन भी इस स्लैब के नीचे दब गए। प्रद्युम का इलाज शिव प्रसाद गुप्ता डिविजनल हॉस्पिटल में चल रहा है लेकिन वह अभी भी सदमे में हैं। उन्हें जब पता चला कि ऑटो में जितने भी लोग थे, उनमें से सिर्फ वह ही जिंदा हैं तो वह काफी देर तक स्तब्ध हो गए। उन्‍होंने कहा कि वह अपने को बहुत ही भाग्यशाली मान रहे हैं कि मौत के मुंह में भी जाकर वह सुरक्षित बच गए।

मोहम्मद शकील भी हुए हैं शिकार वहीं एक और नक्खीघाट के रहने वाले मोहम्मद शकील भी इस हादसे का शिकार हुए हैं। वह अपनी बाइक से जा रहे थे तभी स्लैब आकर उनके ऊपर गिरी। शकील के साथ ही सराय गोवर्धन एरिया के रहने वाले मोहम्मद इस्माइल को भी भरोसा नहीं हो रहा कि वह जिंदा हैं। घायलों का इलाज कर रहे डॉ. संजय राय ने बताया कि घायलों के लिए एक अलग से वॉर्ड बनाया गया है। इस वॉर्ड में उनका इलाज चल रहा है। चार घायलों को यहां लाया गया एक की हालत बहुत गंभीर थी तो उन्हें बीएचयू के ट्रॉमा सेंटर रिफर किया गया है।

मृतकों के परिजनों और घायलों को मुआवजा उधर, हादसे के दूसरे दिन बुधवार को की सुबह अपनों की तलाश में घटनास्थल पर बड़ी संख्‍या में लोग पहुंचे। हालांकि जिस रोड पर हादसा हुआ था वहां अब आवागमन चालू हो गया है। वाराणसी में निर्माणाधीन पुल का हिस्सा गिरने के कारण 18 लोगों की मौत होने के बाद अब सीएम योगी आदित्यनाथ खुद भी वाराणसी के दौरे पर हैं। उन्होंने अस्पताल पहुंचकर घायलों से मुलाकात की। साथ ही प्रदेश सरकार की ओर से मृतकों के परिवार को 5 लाख रुपये और घायलों को 2 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की गई है।

Print Friendly, PDF & Email

You May Also Like

   

     

     
error: Content is protected !!