स्वदेश लौटते ही श्रीलंकाई राष्ट्रपति सिरिसेना ने हटाया आपातकाल

श्रीलंका में सांप्रदायिक हिंसा के बाद देश में लागू आपातकाल को हटाने का राष्ट्रपति सिरिसेना मैत्रिपाला ने आदेश दिया है। कैंडी जिले में सिंहली बौद्ध समुदाय और मुस्लिमों के बीच सांप्रदायिक घटना के बाद 10 दिन के लिए आपातकाल की घोषणा की गई थी।

स्वदेश लौटते ही राष्ट्रपति ने हटाया आपातकाल
श्रीलंका में वर्ष 2009 में हुए गृहयुद्ध के बाद पहली बार आपातकाल लगाया गया था। वहीं सिरिसेना ने शनिवार रात को स्वदेश लौटने के बाद सामान्य हालात को देखते हुए आपातकाल हटाने का निर्णय लिया। उन्होंने एक ट्वीट कर कहा कि देश में हालात सामान्य देखकर मैंने आधी रात से आपातकाल हटाने के आदेश दे दिये हैं।

उल्लेखनीय है कि श्रीलंका में हिंसा होने के बाद छह मार्च को आपातकाल की घोषणा की गई थी। इसके बाद श्रीलंकाई सरकार ने फेसबुक, वाट्सएप और सोशल मीडिया समेत अन्य माध्यमों के इस्तेमाल पर रोक लगा दी थी। सांप्रदायिक हिंसा के कारण कैंडी और अम्पारा जिले में तीन लोगों की मौत हो गई थी और सैकड़ों लोग घायल हो गए थे।

2012 से ही दोनों समुदाय में तनाव की स्थिति
सांप्रदायिक हिंसा के दौरान दंगाइयों ने कई मस्जिदों और सैकड़ों निजी व सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया। वर्ष 2012 के बाद से ही दोनों समुदाय के बीच तनाव बढ़ा हुआ है। बौद्ध समुदाय का आरोप है कि मुस्लिम लोग देश में धर्म परिवर्तन को बढ़ावा दे रहे हैं।

Print Friendly, PDF & Email

You May Also Like

   

     

     
error: Content is protected !!