यूएस ने सख्त किए वीजा नियम; फॉर्म में देनी होगी सोशल मीडिया और पुराने फोन नंबर्स की डिटेल

वॉशिंगटन. देश के लिए खतरा पैदा करने वालों को रोकने के लिए अमेरिका वीजा नियमों को सख्त करने जा रहा है। इसके तहत, अमेरिकी वीजा के लिए अप्लाई करने वाले को फॉर्म में अब अपने पुराने मोबाइल नंबरों, ईमेल आईडी और सोशल मीडिया की हिस्ट्री समेत कई डिटेल मुहैया करानी होगी। अमेरिकी स्टेट डिपार्टमेंट का अनुमान है कि इन नए वीजा नियमों का एक करोड़ 47 लाख लोगों पर असर होगा।

बताने होंगे 5 साल पुराने फोन नंबर और ई-मेल आईडी
गुरुवार को फेडरल रजिस्टर में पोस्ट किए गए एक डॉक्युमेंट के मुताबिक, जो भी गैर-अप्रवासी वीजा लेकर अमेरिका आना चाहते हैं, उन्हें नए नियमों के तहत फॉर्म में दिए गए नए सवालों के जवाब देने होंगे।

स्टेट डिपार्टमेंट का कहना है कि इस पूरी कवायद का मकसद लोगों की सही पहचान और पूरी जांच है।

फॉर्म में क्या-क्या बताना होगा?

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स का यूजर नेम।

– 5 सालों में इस्तेमाल किए गए ई-मेल आईडी और फोन नंबर्स।

– 5 सालों की विदेश यात्रा की जानकारी। इसके अलावा यह भी बताना होगा कि किसी देश से आपको डिपोर्ट (देश निकाला) तो नहीं किया गया है।

आपके परिवार को कोई सदस्य आतंकी गतिविधियों में शामिल तो नहीं रहा था।

डॉक्युमेंट्स को आधिकारिक तौर पर शुक्रवार को पब्लिश किया जाएगा। इसके बाद लोगों को नए वीजा फॉर्म पर सुझाव या टिप्पणी देने के लिए 60 दिन का वक्त मिलेगा।

कितने लोगों पर इसका असर होगा?

नए वीजा नियमों का करीब एक करोड़ 47 लाख लोगों पर असर पड़ेगा। इनमें 7 लाख 10 हजार अप्रवासी और 1 करोड़ 40 लाख गैर-अप्रवासी वीजा आवेदक शामिल हैं।

आवेदकों की सही पहचान और जांच के लिए मांगी गई जानकारियां
डॉक्युमेंट्स में दी गई जानकारी के मुताबिक, स्टेट डिपार्टमेंट कानूनी मानकों के तहत वीजा आवेदकों की जानकारी इकट्ठा कर रहा है, ताकि उनकी सही पहचान और जांच की जा सके।
इसके अलावा नए वीजा फॉर्म्स में आवेदकों से उनके मेडिकल जांच से जुड़ी जानकारी भी मांगी गई है। इसके चलते कई लोगों को आवेदन के दौरान मेडिकल जांच से गुजरना पड़ सकता है।

Print Friendly, PDF & Email

You May Also Like

   

     

     
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: